Saturday

How can we are changing the Society atmosphere.

जय भारत जय विश्व 

विचार क्या है ? विचार कैसे है ? विचार कहाँ है ?और विचारों का सृजनकर्ता कौन है ?

क्रियायोग विज्ञान 


बेरोजगारी मुक्त समाज बनाना 

अवसर प्रत्येक को                          99 +1 = 100 % Success 

निःसंदेह ब्लॉग पर विचारो को शब्दों द्वारा संगृहीत भाषा के माध्यम प्रेषित कर प्रयासरत हूँ। आपका सहयोग ही मानव समाज को बेरोजगारी मुक्त करा ,हम (आप +मैं ) सामाजिक वातावरण को शीतल बना सकते है। 

सांसारिक इच्छाओं की पूर्ति के लिए किया जा रहा कार्य तब ज्यादा उत्साही होता है जब वह इच्छित  कार्य करने की सूची से जुड़ा होता है। 

सत्य सरल है।  

                     अवसर संग सफलता 
Opportunity Weds Success

Great , You are my Friend. As My I.Friend says to me ,"Success is gift for YOU.
Honable , regular invisible visitor of 
http://esaierwork.blogspot.in
And all Great personalities whose are continuously caring about my success and encouraging me by there thoughtfull Emails and tricks.
And insuring me always for Success. 
जन-जन की शान बनाते है ,बेरोजगारी मुक्त समाज 
दोस्तों , कैसे ? 99 +1=100 % Success
लक्ष्य की महानता ही सफलता की सूत्रधार है और प्रयास करना  मानव स्वाभाव है। अभ्यास  निश्चितता को प्रकट करता है।  निश्चित रोजगार    

Join the Movement
Let makes full employed human Society. You are serious to make money more and more & more Or
want to make your residual income. 
Start Now from  Certain Employment

All is Best. Why? 
God is all everything. It means it is always present in breath and life too. So, We know God is Everything.  Realize it from Kriyayoga Science

Life never die. Life is Peace. Life is Light.

 जन-जन को रोजगार, यही है समाज सुधार  का आधार  

आधार कार्ड वह पहचान है जो भारतीय की शान है। 

Highly effective program process. That makes Success for each of us. 

Diversity shows/tells Unity is present in Oneness. 



प्रेरणादायक 

एक बार देवऋषि के मन में यह जानने की इच्छा हुई कि जगत में सबसे महान कौन है ! उन्होंने सोचा इसके बारे में ठीक -ठीक जवाब भगवान  से पूछा जाए क्योंकि वही इसका जवाब दे सकते है। वह सीधे वैकुंठ गए और वहाँ जाकर अपना मनोभाव प्रकट किया।  
प्रभु ने कहा , नारद (नाद +रन्ध्र ) सबसे बड़ी यह पृथ्वी ही दिखती है पर यह समुद्र से घिरी हुई है।  इसलिए यह भी बड़ी नही है रही बात समुद्र की तो उसे अगस्त मुनि पी गये थे अतः वह कैसे बड़ा  हो सकता है ? इससे से बड़े अगस्त जी बड़े  गए लेकिन देखा जाता है अनंत आकाश के एक छोटे से हिस्से में वह केवल एक जुगनू की तरह चमक रहे है , ऐसे में भला वह कैसे बड़े हो सकते है।  अब रही बात आकाश की तो प्रसिद्ध है की भगवन भगवान विष्णु ने वामनावतार में इस आकाश को एक पग में नाप लिया था , अतएव वह भी उनके सामने नगण्य है।  इस दृष्टि से भगवान विष्णु ही सर्वोपरि महान सिद्ध होते। है 
लेकिन देखा जाये नारद (नाद + रन्ध्र ) मुझे लगता है कि इस जगत में सबसे महान वह भी नहीं है , क्योंकि वह तुम्हारे ह्रदय के अगूंठे भर की जगह में सर्वदा अवरुद्ध देखे जाते है।  इसलिए भैया , तुमसे बड़ा कौन है !वास्तव में तुम ही सबसे महान हो।  
सत्य  सरल है।  
सामाजिक वातावरण की शीतलता को बनाये रखा उतना ही आसान है 
99 + 1 =100 % Success 

THE EMPOWER NETWORK

Success is a stage and Team is a synonym of Success. Team spirit is the sign of Success. Truth can not be hide. 

Any fact! We accepted and effect of acceptance change the life style. 

तर्कों का समापन संभव है , यथार्थ तर्कों द्वारा  और अभ्यास से प्राप्त अनुभव परिणामो से।  

RESULT IS ONE SUCCESS 

Honestly and deeply think and try to realize seriously can money satisfy us (Human). But each of us knows and can imagine that money is a medium to obtain/make and able to set our world beautiful and glorious. 
I & I. friends are continuously making unlimited possibilities for those who wants and want to make success in the form of FINANCIAL FREEDOM.
THE EMPOWER NETWORK

Society needs and requirement of each member of common society wants progress for all with all. 






Post a Comment