Tuesday

In India

जय भारत जय विश्व

भारत जन ,

श्री गीता में भी यह रहस्य प्रकट है की " अहिंसा परमो धर्म " 

भारत साथियों , 

भारत के राजनितिक पटल पर और आज़ादी के कर्मठ दिनों में सम्पूर्ण देश को एकसूत्र में बांधने  का सजीव कार्य जिस दल ने  किया है। वह दल (पार्टी ) ही नहीं है , जन -जन की आवाज़ है।  
अखिल भारतीय कांग्रेस पार्टी  का  सार और जीवतं इतिहास वर्तमान विश्व  समाज के हिरदय  में है।  वह आतंरिक सम्मान उस महात्मा के लिए जिसने यह सिद्ध कर दिखाया की अहिंसा वह सात्विक आतंरिक बल /दम है जो लक्ष्य को प्राप्त करा कर ही, आज़ादी को दिलाता है। 

अखिल भारतीय कांग्रेस पार्टी जन आन्दोलन है।  


राजनीति का उदभव का क्या कारण है ?

जन-जन बुद्धिजीवी क्योकि वह इंसान है।   सर्व जन सुखाय सर्व जन हिताय  यही उद्देश्य है या कुछ और राजनीतिज्ञ जन के लिए या ?

आपके सवाल        http://www.esaierwork.blogspot.in 
                                               facebook.com/omaakaar


विचार वह है जो अवयक्त होता है।  शब्दों से वयक्त करना तो प्रयास है अज्ञानता और

 ज्ञान  का जो भाषा के  माध्यम से वातावरण का सृजन कर रहा है। 


अनुभव अपना बाकी सब सपना 
                         सत्य सरल है।                                                                          आप सत्य है। 

स्वामी जी , स्वामी विवेकानंद के विचार 
मैं उस ईश्वर की सेवा करता हु जिसे अज्ञानी लोग मनुष्य कहते है। 



Post a Comment